Skip to main content

जानिए ट्रैन के पहिये में कितना वज़न होता है / Train Wheel weight' Aligarh News





जानिए ट्रैन के एक पहिये का वज़न उससे पेहले ये जान लेते है, ट्रैन बनाने वाले  दुन्या के पेहले आदमी थे जिनके नाम रिचर्ड ट्रेविठीक (Richard Trevithick) है ट्रैन के पहिये की इजात सबसे पेहले विलम्स जेसप ने की (william jessop ) ट्रैन के केवल एक पहिये का वज़न 322 किलो से लेकर 340 किलो तक होता है
ट्रैन के एक पहिये का साइज अगर नापा जाए तो तक़रीबन 66.5MM से लेकर 825 MM तक होती है
ट्रैन के इंजन के करीब 12 पहिये तक होते है बोगी में 6 पहिया तक या उससे भी अधिक मात्र में 

Comments

Popular posts from this blog

har ghar tiranga in hindi /हर घर तिरंगा आज़ादी का अमृत महोत्सव' मनाने से पहले जानें झंडा फहराने से जुड़ी बातें, समझें नेशनल फ्लैग से जुड़े नियम और इनका पालन करें

  Har Ghar Tiranga  तिरंगा आज़ादी के 75 साल बाद,आजादी के अमृत महोत्सव में पीएम मोदी ने लोगों से आग्रह किया है कि 13 अगस्त से लेकर 15 अगस्त तक सभी अपने ऑफिस और घरों पर तिरंगा लगाएं. लेकिन इससे पहले जान लें नेशनल फ्लैग से जुड़े बहूत खास नियम. Har Ghar Tiranga: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आग्रह पर पूरा देश 2 अगस्त से लेकर 15 अगस्त तक 'हर घर तिरंगा' अभियान में हिस्सा ले रहा है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इसके लिए पूरे देश से आग्रह किया है कि इस दौरान लोग अपने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर नेशनल फ्लैग की प्रोफाइल फोटो लगा लें. इसी के साथ पीएम मोदी ने लोगों से 13 अगस्त से लेकर 15 अगस्त तक ऑफिस और घरों में तिरंगा फहराने को भी कहा है. हालांकि, इसके पहले कि आप भी अपने घरों में तिरंगा लगा लें, हम आपको बता देते हैं कि नेशनल फ्लैग कब, कहां और कैसे फहराया जाता है, इसे लेकर कुछ नियम भी बनाए गए हैं. जिनकी अनदेखी आपको भारी पड़ सकती है. तिरंगा फहराने को लेकर 2002 में एक Flag Code बनाया गया है. आइए जानते हैं क्या है नेशनल फ्लैग कोड और इसमें किन बातों की मनाही है. रात भर फेहराता रहेगा तिरंगा झ

Aligarh News अलीगढ़ खबर / बिजली के करंट की चपेट में आने से काम कर रहे कारीगर की मौत

Aligarh News अलीगढ़ में वेल्‍डिंग की दुकान पर काम कर रहे कारीगर की मौत लोहा मशीन से काटने के दौरान कारीगर करंट की चपेट में आ गया था जिसे जल्द से जल्द में अस्‍पताल ले जाया गया जब तक वो मेडिकल पंहुचा जब तक उसकी जान जा चुकी थी और  डाक्‍टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। अलीगढ़, जागरण संवाददाता। अलीगढ़ news क़स्बा छर्रा  के अतरौली रोड स्थित वेल्‍डिंग की दुकान पर काम करते समय करंट की चपेट में आने से एक young man's death हो गई। जिसके चलते स्वजन में हाहाकार मच गया। मौके पर सैकड़ों लोगों की भीड़ एकत्रित हो गई।  गौरी ट्रेडर्स के यहां करता था काम :  जानकारी के अनुसार कस्बा छर्रा के अतरौली रोड पर हुसैन 25 पुत्र जाकिर खां की Gauri Traders के नाम से लोहे की welding material की दुकान है। वहीं दुकान के पीछे ही उसका घर बना हुआ है। गुरुवार को वह अपनी दुकान पर बिजली कटर मशीन से लोहे की राड काट रहा था, तभी अचानक मशीन में करंट आ गया और वह करंट की चपेट में आकर बुरी तरह झुलस गया। चीख पुकार सुनकर दुकान पर मौजूद स्वजन व अन्य लोग दौड़ कर उसके पास पहुंचे और किसी तरह उसे करंट की चपेट से अलग किया। अलीगढ